इस टेकनीक से दूर की जा सकती है डिप्रेशन और एंग्जाइटी की समस्या – NewsUnfolded

0
Advertisement

Box Breathing: आज के इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में हर कोई तनाव और डिप्रेशन का शिकार है. अस्वास्थ्य लाइफस्टाइल और ऊपर से कोरोना का खतरा हर किसी को शारीरिक और मानसिक रुप से बीमार कर रहा है. तनाव और डिप्रेशन से व्यवहार और बातचीत करने के अंदाज में भी काफी बदलाव देखने को मिलता है. हालांकि तनाव और डिप्रेशन से निकलने के लिए कुछ एक्सरसाइज हैं जिनकी मदद से हम खुद को स्वस्थ रख सकते हैं. वैसे तो कई योग और एक्सरसाइज है लेकिन इन सभी में से जो बेहद कारगर है वह है बॉक्स ब्रीदींग टेक्निक.यह एक तरह का स्ट्रेस मैनेजमेंट एक्सरसाइज है जिसे बहुत ही आसानी से किया जा सकता है तनाव दूर करने के साथ-साथ यह आपको फोकस करने में भी मदद करती है जानते हैं बॉक्स ब्रीदींग करने का सही तरीका क्या है और इस से क्या-क्या फायदे मिल सकते हैं.

Advertisement

क्या है बॉक्स ब्रीदींग?

बॉक्स ब्रीदिंग टेक्निक करते समय आपको गहरी सांस लेनी होती है इससे तनाव और डिप्रेशन कम होता है. एकाग्रता बढ़ती है और भी कई लाभ हो सकते हैं. बॉक्स ब्रीदींग ना सिर्फ शारीरिक रूप से आपकी सांसो को धीमा करता है बल्कि यह आपके दिमाग को आपके सांसो पर ध्यान केंद्रित करने और सचेत करने के लिए भी मजबूर करता है. यह तनाव और डिप्रेशन के समय खास करके बहुत ही प्रभावी हो सकता है. इसके साथ ही दैनिक जीवन में भी यह आपको बहुत फायदा पहुंचा सकता है. बॉक्स ब्रीदिंग को कई नामों से जाना जाता है: फोर-स्क्वायर ब्रीदिंग, स्क्वायर ब्रीदिंग, फोर-काउंट ब्रीदिंग, साम वृत्ति प्राणायाम, टैक्टिकल ब्रीदिंग और योगिक ब्रीदिंग.

जब आप तनाव में होते हैं तो यह आपके सिस्टम की प्रक्रिया है कि आप की सांसें तेज़ होने लगती है. यह प्राकृतिक तनाव प्रतिक्रिया का एक हिस्सा है.इस तरह की तेज़ी से सांसे लेने को हम हाइपरवेंटिलेशन कहते हैं, जहां आप सांस लेने से ज्यादा सांस छोड़ते हैं. यह आपके शरीर से कार्बन डाइऑक्साइड के स्तर को कम करता है और आपको हल्का महसूस कराता है. लेकिन जब आप बॉक्स ब्रीदिंग करते हैं तो अपनी सांस को धीमा करने से हाइपरवेंटिलेशन को नियंत्रित करने में मदद मिलती है यह आपके सांस की लय को दोबारा से रिदम में लेकर आता है.और आपके तनाव को दूर करता है.

News Reels

बॉक्स ब्रीदिंग कैसे करें

  • 4 सेकंड के लिए नाक से सांस लें.
  • 4 सेकंड के लिए रुकें.
  • 4 सेकेंड के लिए सांस छोड़ें.
  • 4 सेकंड के लिए रुकें.
  • ऐसे ही ये प्रोसेस 3 से 4 बार दोहराएं

यदि आपके पास केवल 4 चक्र करने का समय है, तो लगभग 2 मिनट में आप अंतर महसूस करेंगे। इससे भी बेहतर, अगर आप 5 मिनट या उससे अधिक समय में प्राप्त कर सकते हैं, तो आपको और भी अधिक लाभ प्राप्त होंगे

ये हैं बॉक्स ब्रीदींग के फायदे

  • गहरी सांस लेने से नर्वस सिस्टम शांत होता है.
  • तनाव बढ़ाने वाले हार्मोन कोर्टिसोल का लेवल कम होता है इससे तनाव कम होता है और मोड रिलेक्स होता है
  • इससे एकाग्रता और फोकस बढ़ती है.
  • सकारात्मक रूप से सोचने में मदद मिलती है.
  • नियमित रूप से इसे करने से डिप्रेशन और एंजाइटी की समस्या दूर होती है.

 

ये भी पढ़ें: Internal Bleeding: बॉडी में इन वजहों से हो सकती है इंटरनल ब्लीडिंग, कभी भी इन दिक्कतों को न करें नजरअंदाज

 

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here