बॉडी में इन वजहों से हो सकती है इंटरनल ब्लीडिंग, कभी भी इन दिक्कतों को न करें नजरअंदाज – NewsUnfolded

0
Advertisement

Symptoms Of Internal Bleeding: जब कभी चोट लगती है और खून बहने लग जाता है तो हमें अंदाजा हो जाता है की चोट कितनी गहरी है और इसे हम ब्लीडिंग कहते हैं. लेकिन चोट लगने या फिर किसी और वजह से खून बाहर बहने के बजाय अगर शरीर के अंदर रहता है या रक्त का रिसाव होता है तो इसे इंटरनल ब्लीडिंग कहा जाता है. ये टर्म अपने बहुत कम सुना होगा लेकिन आपको बता दें कि इंटरनल ब्लीडिंग कई तरह की हो सकती है और इसमें हमें पता ही नहीं चलता कि ब्लीडिंग किस लेवल पर हो रही है.  कई बार इंटरनल ब्लीडिंग काफी खतरनाक हो सकती है इसलिए यह जानना हमारे लिए बेहद जरूरी है कि शरीर में इंटरनल ब्लीडिंग क्यों होती है और इसका पता कैसे लगाया जा सकता है.

Advertisement

 

क्या होती है इंटरनल ब्लीडिंग?

जब ब्लड वेसल्स से ब्लड बाहर निकलता है लेकिन ये बॉडी के किसी भी बाहरी हिस्से पर नजर नहीं आता है बल्कि बॉडी के अंदर ही जमा होता है तब उसको इंटरनल ब्लीडिंग कहते हैं. इंटरनल ब्लीडिंग का पता आमतौर पर बाहर से नहीं चलता है. यह कितना खतरनाक है यह इस बात पर डिपेंड करता है कि इंटरनल ब्लीडिंग कहां हो रही है. 

 

इंटरनल ब्लीडिंग के ये हैं कारण

इंटरनल ब्लीडिंग के कई कारण हो सकते हैं.  किसी भी तरह की चोट लगने पर इंटरनल ब्लीडिंग हो सकती है. इसके अलावा शरीर के अंदर किसी तरह की बीमारी या फिर कमी की वजह से भी इंटरनल ब्लीडिंग हो सकती है. जब शरीर में फ्रैक्चर होता है यानी हड्डियां टूटती हैं तब भी भारी मात्रा में इंटरनल ब्लीडिंग की संभावना होती है. हीमोफीलिया की कंडीशन में भी बॉडी में इंटरनल ब्लीडिंग हो सकती है. चिकनगुनिया और डेंगू जैसे कुछ बुखार भी हैं जिनके होने पर इंटरनल ब्लीडिंग के चांसेस बढ़ जाते हैं. 

 

इंटरनल ब्लीडिंग के लक्षण

चक्कर आना 

तेज सिर दर्द 

आंखों की रोशनी कम होना 

सांस लेने में तकलीफ 

हाथ पैरों में झनझनाहट 

उल्टी आना 

जरूरत से ज्यादा पसीना आना 

 

इंटरनल ब्लीडिंग का इलाज

आमतौर पर इंटरनल ब्लीडिंग कोई मेडिकल इमरजेंसी नहीं होती है लेकिन अगर इंटरनल ब्लीडिंग सिर में हो रही है या फिर बॉडी के किसी पार्ट में ब्लड क्लोटिंग हो रही है तब आपको बिना देर किए डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए. एक्स रे, सीटी स्कैन के जरिये डॉक्टर इसका पता लगा सकते हैं. माइनर ब्लीडिंग में डॉक्टर आपको कुछ दिन का मेडिकेशन और कुछ दिनों तक आराम करने की सलाह दे सकते हैं और अगर ब्लीडिंग गंभीर है तो फिर सर्जरी भी की जा सकती है.

 

ये भी पढ़ें 

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here